नौनिहालों के पेट में कीड़ा मारने वाली दवा एल्बेंडाजोल को खिलाने को 10 अगस्त को मनेगा कृमि मुक्ति दिवस

National Krimi Mukati meeting 15-7-17 (2)

आजमगढ़ : राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस 10 अगस्त को आयोजित होगा। इस दिन जिले के सभी बेसिक स्कूल, इण्टर कालेज, आंगनवाड़ी केन्द्र के बच्चों को पेट में कीड़ा मारने वाली दवा एलबेन्डाजोल खिलायी जायेगी। जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह ने इसकी तैयारी की समीक्षा कर निर्देश दिया है कि सभी अधिकारी उस दिन 5-5 स्कूल जायेगे तथा दवा खिलवायेगेे। उन्होने सीबीएसई एवं आईसीएससी बोर्ड मदरसे एवं अन्य शिक्षण संस्थाओं से अपील किया है कि वे भी अपने बच्चों को भी यह दवा खिलाये। इसका कोई साइडइफेक्ट नही होता है। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सभी स्कूल, कालेज में दवा पहुुंचाने का कार्य समय से करें। इसके अलावा उस दिन सभी डाक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ को कोई अवकाश न दिया जाये। प्रशिक्षण में सभी को दवा खिलाने की जानकारी दें। दवा सही तरीकें से खिलायी जाये। इसके अलावा उन्होने साफ-सफाई अपनाने तथा स्वच्छता पर विशेष जोर दिया। जिलाधिकारी ने ताकीद किया है कि दवा खाने से कोई बच्चा न छूटे। सभी एसडीएम, बीडीओ, एबीएसए, जिला स्तरीय अधिकारी उस दिन 5-5 स्कूलों का भ्रमण कर सुनिश्चित करे कि सभी बच्चों को खिला दी जाये। यदि किसी बच्चांे को कोई परेशानी होती है तो तत्काल डाक्टर को दिखायें। सीएमओ डा0 एसके तिवारी ने कहा कि पेट में कीड़ा होने से बच्चा कमजोर होता है। उसका पढ़ाई में मन नही लगता है। खून एवं पोषण की कमी हो जाती है। इससे बचने के लिए कीड़ा मारने की दवा खिलाना बेहद जरूरी है। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वाईके राय ने बताया कि यह दवा 1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को खिलाना है। 2 वर्ष तक के बच्चों को आधी गोली तथा 3 वर्ष के बच्चों को पूरा गोली चूरा करके खिलाना है। 3 से 19 वर्ष के बच्चे गोली को चबाकर खायें, पानी से घोटें नहीं। इसका स्वाद सन्तरा का होता है इसलिए खाने में अच्छा लगाता है। बैठक को सीडीओ अभिषेक सिंह तथा जोनल कोआर्डिनेटर हेमन्त, डिप्टी सीएमओ डा0 संजय ने भी सम्बोधित किया। इसमें डीपीआरओ जितेन्द्र मिश्र, कार्यक्रम अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 परवेज अख्तर, डा0 चन्द्रप्रकाश, पूनम शुक्ला, डीआईओएस, बीएसए, प्रतिनिधि सतीश कुमार, निजी स्कूलों के प्रधानाचार्य, स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि राकेश मौर्य, प्रशान्त, प्रदीप कुमार, डा0 जैनेन्द्र, पवन कुमार, रामनयन आदि उपस्थित थे।


Leave a Reply

error: Content is protected !!