प्रोजेक्ट नई किरण : काउंसिलिंग में प्रस्तुत हुए 27 मामले, 2 दम्पतियों के जीवन में बिखरी आशा की किरण

1 (1) (42)

आजमगढ़ : सख्त हाथों से कभी छूट जाती हैं अंगुलियाँ, रिश्ते जोर से नहीं तमीज से थामे जाते हैं। प्रोजेक्ट नई किरण के सदस्यों ने जब यह बात अजय व इंदु को समझाई तो बात उन्होंने गाँठ बाँध ली। शादी के महज एक माह बाद से ही अलग रह रहे अजय व इंदु को 2 साल बाद एक दूसरे के साथ साथ रहने को राजी हो गए। जहानागंज की इंदु को उसके ससुराल मेंहनगर के लिए विदा किया गया। ऐसा ही मामला बरदाह निवासिनी दूरभागी देवी का रहा। पति श्यामनारायण से 5 साल से अलग रह रही थी। नवागत अपर पुलिस अधीक्षक मुहम्मद तारीक के प्रयास दोनों एक साथ रहने को राजी हो गए। रविवार को नई किरण प्रोजेक्ट में इस बार 27 मामले प्रस्तुत किये गये थे। 17 में मात्र एक पक्ष प्रस्तुत हुआ जिससे 10 मामलों में काउंसिलिंग हुई।


Leave a Reply

error: Content is protected !!